Press enter to see results or esc to cancel.

सरदार सरोवर बाँध के जलभराव को बाढ़ बताकर व इसे स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के सन्दर्भ में गलत दावे के साथ फैलाया जा रहा है। – FactCrescendo – FactCrescendo | The leading fact-checking website in India

C:UsersLenovoDesktopFCStatue of Unity.jpg

सोशलमंचो पर एक वीडियो के माध्यम से ये बताया जा रहा है कि, गुजरात स्तिथसरदार वल्लभ भाई पटेल के स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के आस- पास का क्षेत्र जलमग्न हो गया है, साथ ही इस पोस्ट में लिखा है कि “देश का 3000 करोड़ रुपया बह गया पानी में।“

इस वीडियो व साथ लिखे दावे को देख येही अंदाजा होता है कि वर्तमान मानसून में हुई भरी बारिश के कारण स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का पूर्ण क्षेत्र जलमग्न हो गया है।

इस वीडियो और उसके साथ इस मैसेज को ट्वीटर, फेसबुक और यूट्यूब आर्काइव लिंक पर काफी लोगों ने पोस्ट किया है।

आर्काइव लिंक


अनुसंधान से पता चलता है कि…

सबसे पहले हमने इस वायरल वीडियो को इनवीड टूलस की मदद से छोटे कीफ्रमेस में काटकर रीवर्स इमेज सर्च के माध्यम से की, परिणाम में हमें ये पता चला कि इस वीडियो को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ट्वीटर हैंडल पर 17 सितंबर 2019 को पोस्ट किया था। उन्होंने अपने पोस्ट में अंग्रेज़ी में एक मैसेज भी लिखा था, 

“थोडी देर पहले केवडिया पहुंचा हूँ। सरदार पटेल के सम्मान में बने इस आलीशान “स्टैच्यू ऑफ यूनिटी” पर एक नज़र डालें।“

आर्काइव लिंक

हमने इस संदर्भ में अधिक जानकारी पाने के लिए कीवर्ड सर्च किया तो हमें कई न्यूज़ आर्टिकल मिले जिसमें प्रधानमंत्री मोदी की इस यात्रा के बारे में लिखा था। हमने लाइवमिंट के एक न्यूज़ आर्टिकल से ये ज्ञात हुआ कि प्रधानमंत्री मोदी ने अपने 69वें जन्मदिन के अवसर पर स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की यात्रा की थीं।

तदंतर हमने नर्मदा जिले के डी.एस.पी हिमकर सिंह से बात की। उनका कहना है कि इस साल स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के क्षेत्र में बारिश नहीं हुई है, आगे उन्होंने बताया कि, “मैंने तो ऐसा कोई वीडियो नहीं देखा है जिसमें स्टैच्यू के आस- पास बाढ़ आ गई हो और ऐसा कुछ हो भी नहीं सकता। इस साल तो वहाँ बारिश भी नहीं हुई है। ज़्यादा बारिश होने पर जब पानी काफी बड़ जाता है तो डैम के दरवाज़े खोलने पड़ते है और पिछले साल मध्य प्रदेश और गुजरात में काफी बरसात हुई थी इसलिए सरदार सरोवर डैम के दरवाज़े खोलने की प्रक्रिया करनी पड़ी होगी। यह तो बहुत आम बात है।चूकी स्टैच्यू नर्मदा नदी पर स्थित है तो चारों ओर पानी दिखेगा ही।“

वीडियो देखने पर उन्होंने कहा, “स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के आस-पास का पानी नर्मदा नदी का पानी है और बारिश के मौसम में नर्मदा नदी का ऐसा ही बहाव होता है।“

हमें जाँच के दौरान द हिंदू का एक न्यूज़ आर्टिकल भी मिला जहाँ अगस्त 2019 में सरदार सरोवर बांध के दरवाज़े खुलने की खबर लिखी है।

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त दावे को गलत पाया है। वाईरल हो रहा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का वीडियो 2019 से है जिसे प्रधानमंत्री द्वारा ट्वीट किया गया था। 

Avatar

Title:सरदार सरोवर बाँध के जलभराव को बाढ़ बताकर व इसे स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के सन्दर्भ में गलत दावे के साथ फैलाया जा रहा है।

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False



और पढ़े पर FactCrescendo | The leading fact-checking website in India/ कुछ घंटे पहले