Press enter to see results or esc to cancel.

फैक्ट चेक: क्या कशायम काढ़ा से हो सकता है कोरोना वायरस का इलाज? – Fact check does drinking kashayam cure covid 19 – Aaj Tak

देश में तेजी से बढ़ते कोरोना केसेज के साथ, हर रोज ऐसे दावे भी सामने आ रहे हैं कि घरेलू नुस्खों या आयुर्वेद के जरिये कोरोना का इलाज किया जा सकता है. भारत में 29 जून की शाम तक कोरोना के करीब 5 लाख 48 हजार केस दर्ज हुए हैं और 16 हजार से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं. इसी बीच फेसबुक पर दावा किया जा रहा है कि कशायम नाम का काढ़ा पीने से कोविड-19 बीमारी का इलाज किया जा सकता है.

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि वायरल पोस्ट में किया जा रहा दावा भ्रामक है. दरअसल, यह काढ़ा एक तरह का इम्यूनिटी बूस्टर (प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाला) है, लेकिन इससे कोरोना का इलाज नहीं किया जा सकता है.

फेसबुक यूजर ‘अरुणाचलम अलगप्पन’ ने 8 जून को अपनी फेसबुक वॉल पर कशायम काढ़े की रेसिपी का एक वीडियो और तस्वीरें शेयर करते हुए लिखा कि कशायम कोरोना संक्रमित लोगों के लिए फायदेमंद है. इसे तीन दिन तक लगातार दो-दो बार लेने से कोरोना बीमारी ठीक हो जाती है.

इस पोस्ट का आर्काइव वर्जन यहां देखा जा सकता है. इसी तरह टि्वटर यूजर ‘बॉबी शेट्टी’ ने कशायम की रेसिपी का एक चार्ट शेयर किया है.

इस चार्ट में लिखा है कि कोरोना वायरस की चपेट में आने के बाद ठीक हो चुके एक एलोपैथिक डॉक्टर ने यह काढ़ा लेने की सलाह दी है. इससे कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज और इससे बचाव दोनों हो सकते हैं.

क्या सचमुच कशायम है कोरोना का इलाज

कशायम एक तरह का काढ़ा होता है जो दक्षिण भारत में काफी प्रचलित है. जब हमने इसके बारे में शुरुआती जांच-पड़ताल की, तो सबसे पहले हमें पता चला कि दो महीने पहले तमिलनाडु सरकार ने प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए कशायम लेने की सलाह दी थी.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मध्य प्रदेश सरकार ने भी लोगों की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए भारी मात्रा में कशायम काढ़ा सहित आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक और यूनानी दवाइयों की सप्लाई की है.

क्या कहता है आयुष मंत्रालय

कीवर्ड सर्च की मदद से हमने पाया कि आयुष मंत्रालय काढ़ा से कोरोना के इलाज का कोई दावा नहीं करता. मंत्रालय की वेबसाइट पर कहा गया है कि अब तक कोई ऐसी दवा नहीं बनी है जो कोविड-19 बीमारी का शर्तिया इलाज कर सके.

image2_062920081353.jpg

हालांकि, इस वेबसाइट पर कशायम काढ़े के फायदे बताए गए हैं. इसके अनुसार, बुखार, खांसी, गले में खराश, बंद नाक और सिरदर्द के इलाज में कुछ खास तरह का कशायम काढ़ा प्रभावकारी होता है.

कोरोनिल को लेकर भी किया गया दावा

हाल ही में रामदेव की संस्था पतंजलि ने भी दावा किया था कि उनकी कोरोनिल नाम की दवा से कोरोना शत-प्रतिशत ठीक हो सकता है. हालांकि, केंद्र सरकार ने इस दवा के प्रचार पर पाबंदी लगा दी. इसके अलावा, उत्तराखंड के आयुष मंत्रालय ने कहा कि रामदेव की कंपनी को इम्यूनिटी बूस्टर दवाएं बनाने की अनुमति मिली थी, न कि कोरोना की दवा बनाने की. इससे जुड़ी खबर यहां पढ़ी जा सकती है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भी कहा है कि अब तक कोरोना वायरस संक्रमण का कोई इलाज नहीं ढूंढ़ा जा सका है.

image-3_062920081552.png

घरेलू नुस्खों से कोविड-19 बीमारी ठीक होने से जुड़ी फर्जी खबरें पहले भी वायरल हुई हैं, जिनका हम समय-समय पर खुलासा करते रहे हैं. ऐसी ही खबरें यहां देखी जा सकती हैं.

पड़ताल से साफ है कि कशायम काढ़ा पीकर शरीर की प्रतिरोधक क्षमता तो बढ़ाई जा सकती है, लेकिन इस बात का कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं ​है कि इससे कोविड-19 बीमारी का इलाज भी किया जा सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android App
  • Aajtak Android IOS